कल रात फूलों की सबसे हसीं शाखों से गुजरा

कल रात फूलों की सबसे हसीं शाखों से गुजरा

मैं सुबह का ख्वाब बनकर तुम्हारी आँखों से गुजरा